इंडो-चाइना में फ्रांस के उपनिवेशवाद का सविस्तार वर्णन कीजिए। | Describe in detail the French colonialism in Indo-China.

उत्तर : (i) चीन को वर्ष 1887 में युद्ध में पराजित करने का पश्चात् फ्रांस ने फ्रांसीसी हिन्द-चीन उपनिवेश को प्रतिष्ठित किया। लाओस, कंबोडिया तथा वियतनाम नामक तीन देशों के संयुक्त उपनिवेश को यह नाम फ्रांसीसियों ने ही दिया। इन तीनों राज्यों का शासन एक फ्रांसीसी गवर्नर जनरल को सौंपा गया।
After defeating China in the war in 1887, France distinguished the French Indo-China colony. The French gave this name to the joint colony of three countries namely Laos, Cambodia and Vietnam. The rule of these three states was entrusted to a French Governor General.

(ii) इंडो-चाइना फ्रांस सरकार के नियंत्रण में काफी समय तक रहा। जब 1939 ई. में जर्मनी ने फ्रांस पर अधिकार कर लिया तो इंडो-चाइना पर 1940 में जापान का अधिकार हो गया। वियतनाम के लोगों ने अपने महानतम नेता हो ची मिन्ह के नेतृत्व में वियतमिन्ह’ नामक सेना को संगठित करके जापानी सेनाओं के कब्जे वाले हनोई को 1945 में पुनः छुड़ा लिया।
Indo-China remained under the control of the French government for a long time. When Germany took over France in 1939, Indo-China became Japan in 1940. The people of Vietnam regained Hanoi-occupied Hanoi in 1945 by organizing an army called the Vietminh ‘led by its greatest leader, Ho Chi Minh.

(iii) फ्रांस ने बाओ दाई को अपने हाथ की कठपुतली बनाकर 1954 में वियतनाम पर पुनः आक्रमण कर दिया लेकिन दियन बियन फू नामक पर्वतीय दुर्गम स्थान पर वियतमिन्ह ने फ्रांस को करारी मात दी।
France invaded Vietnam again in 1954 by making Bao Dai a puppet of his hand, but Vietminh defeated France in a mountainous inaccessible place called Dian Bian Fu.

(iv) इसके बाद भी जेनेवा (पेरिस) की शांति संधि में विकसित देशों ने वियतनाम को दो भागों में बाँट दिया था।Even after this, in the peace treaty of Geneva (Paris), the developed countries divided Vietnam into two parts.

Leave a Comment

You cannot copy content of this page
Scroll to Top

Live Quiz : बंधुत्व जाति और वर्ग | 04:00 pm