न्यूटन की गति के नियम | न्यूटन की गति का पहला नियम | दूसरा नियम | तीसरा नियम

महान वैज्ञानिक सर आईजेक न्यूटन ने सन 1687 ई. में अपनी किताब प्रिन्सीपिया में गति के नियमों को प्रतिपादित किया था. तभी से आइजेक न्यूटन के सम्मान में इन नियमों को न्यूटन के गति के नियम कहे जाते हैं.

1. गति का पहला नियम – (जड़त्व का नियम Law of Inertia)

यदि कोई वस्तु विरामावास्था में है तो वह तब तक विरामावास्था में ही रहेगी और यदि कोई वस्तु गतिशील अवस्था में है तो गतिशील ही रहेगी जब तक उस पर कोई बाहय बल न लगाया जाये. इसे जडत्व का नियम भी कहते हैं.

    उदाहरण | Example
  • रुकी हुई गाड़ी के अचानक चलने पर उसमें बैठे यात्री पीछे की ओर झुक जाते हैं.
  • पेड़ के हिलाने पर उसके फल टूट कर नीचे गिर जाते हैं.
  • कम्बल को डंडे से पीटने पर उसके धुल कण झड़ने लगते हैं
इसे देशी भाषा में समझें | Great Explanation


देखो, यदि कोई चीज है अगर वो रुकी पड़ी है तो जब तक कोई उसे पैर न मार दे धक्का न लगा दे या उस पर डंडा, टक्कर, घूसा या किसी और चीज से न लुढका दे तब तक वो चीज वहीँ पड़ी रहेगी (हवा भी उसे धक्का लगा सकती है).

आगे सुनो – यदि कोई चीज चल रही है जैसे गाड़ी पत्थर डंडा बाल या कुछ भी तो अगर वो चीज चल रही है तो वह तब तक कभी रुकेगी नहीं जब तक कोई उसे रोके न. अब आप कहोगे कि गेंद लुड़का दो तो रुक जाती है तो भाई ऐसा है कि गेंद कभी नहीं रूकती उसे धरती का घर्षण बल रोक लेता है. ऐसे ही दुनिया की हर वस्तु घर्षण बल के कारण रुक जाती है.

2. गति का दूसरा नियम – (संवेग का नियम Law of Momentum)

वस्तु के संवेग परिवर्तन की दर उस पर लगाये गए बल के अनुक्रमानुपाती होती है तथा संवेग परिवर्तन आरोपित बल की दिशा में ही होता है.

    उदाहरण | Example
  • क्रिकेट खिलाड़ी तेजी से आती हुई गेंद को कैच करते समय अपने हांथों को गेंद के वेग को कम करने के लिए पीछे की ओर खींच लेता है.

3. गति का तीसरा नियम – (क्रिया प्रतिक्रिया का नियम Law of Action and Reaction)

इस नियम के अनुसार प्रत्येक क्रिया के बराबर तथा विपरीत दिशा में प्रतिक्रिया होती है. इसे क्रिया प्रतिक्रिया का नियम भी कहते हैं.

    उदाहरण | Example
  • बन्दुक से गोली निकलते समय पीछे की ओर झटका लगता है
  • रॉकेट का आगे बढ़ना

Leave a Comment

You cannot copy content of this page
Scroll to Top

Live Quiz : बंधुत्व जाति और वर्ग | 04:00 pm