याद रखने योग्य बातें – रत के विदेश संबंध – Class12th Political Science chapter-4

भारत के विदेश संबंध  (India’s External Relations) 

Class 12 | Chapter 4

हिंदी नोट्स

  1.  गुट निरपेक्षता की नीति : वह विदेश नीति जो किसी भी (दोनों में से) बड़े सैन्य गुट में शामिल न होने के सिद्धांत की पक्षधर होती है तथा हर अंतर्राष्ट्रीय मसले को गुण-दोष के आधार पर उसका समर्थन या विरोध करती है
  2. भारत के पड़ोसियों के साथ स्वतंत्रता के उपरान्त तीन युद्ध (i) ।962 चीन-भारत युद्ध, (ii) 1965 तथा 1971 में लड़े गए भारत-पाक युद्ध।
  3. प्रायः उपनिवेशवाद की समाप्ति का माना जाने वाला कालांश 1945 से 1990 के बीच के वर्ष।
  4.  स्वतंत्र भारत के समक्ष दोहरी चुनौती : (i) लोकतंत्र कायम करने की चुनौती तथा (ii) अपनी जनता की भलाई करने की नीति। 
  5. बुनियादी तौर पर किसी देश की आजादी किस कारक से बनी होती है : आजादी बुनियादी तौर पर विदेशी संबंधों से बनी होती है। 
  6. शीत युद्ध : अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर ऐसा तनावपूर्ण या युद्ध जैसा वातावरण कि अभी युद्ध छिड़ जाएगा को शीत युद्ध कहते हैं। यह युद्ध सन् 1945 से 1990 तक संयुक्त राज्य अमेरिका तथा पूर्व सोवियत संघ के नेतृत्व वाले दोनों खेमों में शत्रुता तथा पृथक्-पृथक् रवैया (नजरिया या दृष्टिकोण) रखने के कारण ही था।
  7. आई.एन.ए. (INA) : उपनिवेशवाद और साम्राज्यवाद के विरुद्ध कुछ शक्तियों के साथ मिलकर सांझी लड़ाई लड़ने के लिए सुभाषचन्द्र बोस ने दूसरे विश्व युद्ध के दौरान एक सेना का गठन किया था जिसे आई.एन.ए. या आजाद हिंद फौज कहा जाता  है।
  8. चीन में कम्युनिस्ट सरकार की स्थापना : 1949 में।
  9. 1946-47 से 1964 तक जिस नेता ने भारत की विदेश नीति की रचना तथा क्रियान्वयन पर प्रभाव डाला : प्रधानमंत्री तथा विदेश मंत्री जवाहर लाल नेहरू।
  10. नाटो (NATO) : उत्तर अटलांटिक संधि संगठन । यह एक सैन्य गुट है जिसका मुखिया संयुक्त राज्य अमेरिका है। 
  11. वारसा पैक्ट (समझौता) : नाटो के जवाब में सोवियत संघ द्वारा संगठित सैन्य गठबंधन जिसमें पूर्वी यूरोपीय या साम्यवादी देश सदस्य थे।
  12. स्वेज नहर (मिस्र के अधीन) पर आक्रमण : 1956 में ब्रिटेन ने आक्रमण किया था। 
  13. प्रथम एफ्रो-एशियाई सम्मेलन : इंडोनेशिया के शहर बांडुंग में 1955 में हुआ।
  14. गुटनिरपेक्ष आंदोलन का पहला सम्मेलन : 1961 में बेलग्रेड (यूगोस्लाविया) में हुआ था।
  15. राष्ट्र की शक्ति के तीन साधन : संसाधन या प्राकृतिक सम्पदा, पूँजी और धन, जनशक्ति और उसकी योग्यता।
  16. पंचशील की घोषणा : यह घोषणा भारत के प्रधानमंत्री जवाहरलाल से 29 अप्रैल, 1954 को की थी।
  17. भारत पर चीन का आक्रमण : 1962 में।
  18. चीनी राष्ट्राध्यक्ष चाउ-एन-लाई का भारत दौरा : 1956
  19. दलाई लामा : तिब्बत का धार्मिक नेता।
  20. भारत में दलाई लामा द्वारा शरण लेना : 1959
  21. भारत में तिब्बती शरणार्थियों की दो बड़ी बस्तियाँ : दिल्ली और हिमाचल प्रदेश का धर्मशाला।
  22. भारत के वे दो राजनीतिक दल जो तिब्बत की आजादी का समर्थन करते थे : सोशलिस्ट पार्टी और भारतीय जनसंघ)
  23.  भारत-चीन युद्ध 1962 के दौरान नेहरू के हृदय को भावुक कर देने वाला लता द्वारा गाया गीत : 1962 के युद्ध के बाद लता मंगेशकर ने जो गीत गाया था उसका मुखड़ा था-‘ ऐ मेरे वतन के लोगों जरा आँख में भर लो पानी।
  24. चीन द्वारा परमाणु परीक्षण : 1964
  25. अरब-इजरायल युद्ध : 1973

Leave a Comment

You cannot copy content of this page
Scroll to Top