यायावार साम्राज्य Chapter 5 Class 11 History

परीक्षापयोगी कुछ अन्य महत्त्वपूर्ण प्रश्नोत्तर

प्रश्न 1. मंगोलों के प्रादुर्भाव का क्या परिणाम हुआ?
उत्तर : मंगोलों के प्रादुर्भाव के कई अच्छे परिणाम हुए। नके मार्ग से यूरोप के मांको, व्यापारियों तथा यात्रियों का – ানা-जाना प्रारंभ हो गया जैसे धर्म युद्धों के समय में हुआ था। स मार्ग के द्वारा एशिया के कई आविष्कार तथा विचार यूरोप पहुंच गए जिनसे पश्चिमी यूरोप को बड़ी सहायता मिली।

प्रश्न 2. चंगेज खाँ कौन था और उसका साम्राज्य किन-किन महाद्वीपों में था?
उत्तर : (i) चंगेज खान मंगोल साम्राज्य का संस्थापक था।
(ii) उसका साम्राज्य यूरोप और एशिया महाद्वीप तक विस्तृत था।

प्रश्न 3. ‘बर्बर’ शब्द का क्या अर्थ है?
उत्तर : ‘बर्बर’ शब्द यूनानी भाषा के शब्द ‘बारबरोस’ से निकला है जिसका तात्पर्य गैर-यूनानी लोगों से है । यूनानियों को इनकी भाषा एक बेतरतीब शोर ‘बरबर’ के समान लगती थी।

प्रश्न 4. चंगेज़ की उपलब्धियों को संक्षेप में लिखें।
उत्तर : चंगेज खाँ (1162-1227) मंगोल जाति का सबसे महान नेता था जिसने 12वीं शताब्दी के अन्त और 13वीं शताब्दी के शुरू में विश्व के सबसे महानतम स्थलीय साम्राज्य की नींव रखी जो पश्चिमी में कैस्पियन सागर से शुरू होकर पूर्व में दक्षिण चीन सागर तक फैला हुआ था। उसने उत्तरी चीन ट्राँसओकिसयाना,अफगानिस्तान, पूर्वी ईरान, स्टेपी प्रदेश में अनेक युद्ध अभियान किए और हर ओर सफलता प्राप्त की। मंगोलों के सामने हर किसी की सेनाएँ ऐसे भाग जाती थीं जैसे आँधी के सामने तिनका। चंगेज खाँ एक महान विजेता ही नहीं वरन् एक महान संगठनकर्ता भी था, जिसने विभिन्न घुमक्कड़ मंगोल कबीलों को एक अनुशासित सैनिक शक्ति में बदल दिया जिसे कहीं हार का मुँह नहीं देखना पड़ा।

प्रश्न 5. चंगेज खान के वंशजों का पृथक-पृथक् समूहों में बँट जाने का क्या परिणाम निकला?
उत्तर : चंगेज खान के वंशजों के पृथक्-पृथक् समूहों में बंटने से उनकी अपने पुराने परिवार से जुड़ी स्मृतियाँ तथा परंपराएं बदल गई।

प्रश्न 6. चंगेज खान के चीनी अभियान का वर्णन कीजिए।
उत्तर : चंगेज खान अपनी स्थिति मजबूत करने के पश्चात् चीन को जीतना चाहता था। 1209 ई. में सी-सिआ लोगों को पराजित कर दिया और 1213 ई. में चीन की महान दीवार को नष्ट कर दिया। 1215 ई. में पेकिंग नगर को लूट लिया। उसका अभियान 1234 ई. तक चलता रहा और उसने चीन के बड़े भाग पर अधिकार कर लिया।

प्रश्न 7, मंगोल कौन थे?
उत्तर : मंगोल विविध लोगों का जनसमुदाय था। ये लोग पूर्व में तातार, खितान तथा मंचू लोगों से संबंधित थे। पश्चिम में इनका संबंध तुर्क कबीलों से था।

प्रश्न 8, चंगेज खान की आज की स्थिति क्या है?
उत्तर : (i) मंगोलिया एक स्वतंत्र राष्ट्र बन चुका है। उसने चंगेज खान को राष्ट्र नायक के रूप में स्वीकार किया है।
(ii) इस समय चंगेज खान मंगोलों के लिए एक आराध्य प्रतिमा के रूप में उभरकर आया है, जिसकी स्मृतियाँ राष्ट्र को भविष्य की ओर अग्रसर करेंगी।

प्रश्न 9. कुबकुर (Qubcur) नामक कर क्या था?
उत्तर : चंगेज खान ने एक हरकारा संचार प्रणाली आरंभ की थी। इसके लिए मंगोल यायावर अपने घोड़ों अथवा अन्य पशुओं का दसवाँ भाग प्रदान करते थे। इसे कुबकुर कर कहते थे।

प्रश्न 10. बाबर का मंगोलों से क्या संबंध था?
उत्तर : (i) जहीरुद्दीन बाबर तैमूर और चंगेज खान का वंशज था।
(ii) उसने तैमूर के राज्य फरगना और समरकंद में सफलता प्राप्त की। वहाँ से निर्वासित किया गया और 1526 ई. में काबुल, दिल्ली और आगरा पर अधिकार कर लिया और भारत में साम्राज्य की स्थापना की।

प्रश्न 11. चार उलूस (UIus) का गठन किस प्रकार हुआ?
उत्तर : उलुस से अभिप्राय है-साम्राज्य सीमा। अपनी नई । व्यवस्था में चंगेज खान ने नव-विजित लोगों पर शासन करने का उत्तरदायित्व अपने चार पुत्रों को सौंप दिया। इस प्रकार चार उलुस का गठन हुआ।

प्रश्न 12. चंगेज खान अपने अभियानों में किन यंत्रों का प्रयोग करता था।
उत्तर : (i) चंगेज खान अपने अभियानों में घेराबंदी यंत्र (Seige-engine) और नेफ्था बम्ब का प्रयोग किया।
(ii) उसके इंजीनियरों ने उसके शत्रुओं के विरुद्ध अभियानों में हल्के चल-उपस्करों का निर्माण किया।

प्रश्न 13. चंगेज खान की सैनिक सफलताओं में सहायक कोई दो कारक बताइए।
उत्तर : (1) मंगोलों तथा तुर्कों की कुशल घुड़सवारी ने उसकी सेना को गति प्रदान की थी।
(2) उसका घोड़े पर सवार होकर तीरंदाजी का कौशल अद्भुत था।

प्रश्न 14. तैमूर कौन थे?
उत्तर : वह वरलास तुर्क था। उसने चगताई वंश के आधार अपने को चंगेज खान का वंशज बताया। उसने स्टेपी साम्राज्य की स्थापना की। उसने स्वयं को ‘गुरिजन’ शाही-दामाद’ की उपाधि से विभूषित किया।

प्रश्न 15. मंगोल सेनाओं को मिस्र के हाथों पराजित क्यों होना पड़ा?
उत्तर : मंगोल शासक चीन में अधिक रुचि लेने लगे थे। अतः उन्होंने अपनी सेनाओं को मंगोल साम्राज्य के मुख्य भागों को ओर भेज दिया। मिस्र में केवल एक छोटी-सी सेना ही भेजी ज सकी। परिणामस्वरूप मंगोलों को पराजय का मुँह देखना पड़ा।

प्रश्न 16. चंगेज खान की राजनीतिक व्यवस्था की क्या विशेषता है?
उत्तर : (i) इसकी राजनीतिक व्यवस्था स्थायी, सुदृढ़ और प्रभावशाली थी।
(ii) यह व्यवस्था चीन, ईरान और पूर्वी यूरोपीय देशों की विशाल सेनाओं की श्रेष्ठ उपकरणों की सहायता से सामना करने में पूर्ण सक्षम थी।

Leave a Comment

You cannot copy content of this page
Scroll to Top

Live Quiz : बंधुत्व जाति और वर्ग | 04:00 pm