2 अंकीय प्रश्न उत्तर – ईंट मनके और सभ्यता Class 12th History Chapter 1

Index

1. ईंट मनके और अस्थियाँ

1. आरंभ 2. निर्वाह के तरीके 3. मोहनजोदड़ो 4. सामाजिक विभिन्नताओं का अवलोकन 5. शिल्प उत्पादन के विषय में जानकारी 6. माल प्राप्त करने सम्बन्धी नीतियाँ 7. मुहरें लिपि तथा बाट 8. प्राचीन सभ्यता 9. सभ्यता का अंत 10. हड़प्पा सभ्यता की खोज 11. अतीत को जोड़कर पूरा करने की समस्याएं मानचित्र बहुविकल्पीय प्रश्न उत्तर 1 अंकीय प्रश्न उत्तर 2 अंकीय प्रश्न उत्तर

2. राजा किसान और नगर

बहुविकल्पीय प्रश्न उत्तर

3. बंधुत्व जाति और वर्ग

बहुविकल्पीय प्रश्न उत्तर

4. विचारक विश्वास और इमारतें

बहुविकल्पीय प्रश्न उत्तर 1 बहुविकल्पीय प्रश्न उत्तर 2

6. भक्ति सूफी और परम्पराएँ

बहुविकल्पीय प्रश्न उत्तर

7. एक साम्राज्य की राजधानी विजयनगर

बहुविकल्पीय प्रश्न उत्तर

8. उपनिवेशवाद और देहात

बहुविकल्पीय प्रश्न उत्तर

10. उपनिवेशवाद और देहात

बहुविकल्पीय प्रश्न उत्तर

11. विद्रोह और राज

बहुविकल्पीय प्रश्न उत्तर

13. महात्मा गाँधी और आन्दोलन

बहुविकल्पीय प्रश्न उत्तर

15. संविधान का निर्माण

बहुविकल्पीय प्रश्न उत्तर

ईंटें मनके और अस्थियाँ Class 12th History Chapter 1 Important Question Answer 2 Marks.

प्रश्न 1. हड़प्पाइयों द्वारा बर्तनों के विभिन्न प्रयोगों का उल्लेख कीजिए। सिन्धु घाटी में ये बर्तन किन-किन चीजों से बनाए जाते थे ?
उत्तर : कुछ बर्तन (जैसे चक्की, अनाज या खाद्य पदार्थ) पीसने के लिए प्रयोग किये जाते थे। इन बर्तनों को चीजों को मिलाने के लिए अलग रखने के लिए और खाना पकाने के लिए भी इस्तेमाल किया जाता था ये यहाँ पात्र पत्थरों, धातुओं और चिकनी मिट्टी के बनाये जाते थे।

प्रश्न 15.कनिंघम कौन था? हड़प्पा सभ्यता की आरधिक बस्तियों की पहचान के लिए उसने किन वृत्तांतों का प्रयोग किया? किसी एक का उल्लेख कीजिए।
उत्तर : (i) कनिंघम भारतीय पुरातात्विक सर्वेक्षण के पहले डायरेक्टर जनरल थे। उन्होंने उन्नीसवीं शताब्दी के मध्य में पुरातात्विक उत्खनन आरंभ किए।
(ii) हड़प्पा सभ्यता की आरंभिक बस्तियों की पहचान के लिए उन्होंने चौथी से सातवीं शताब्दी ईसवी के बीच उपमहाद्वीप में आए चीनी बौद्ध तीर्थयात्रियों द्वारा छोड़े गए वृत्तांतों का प्रयोग किया।

प्रश्न 2, जॉन मार्शल कौन था ? भारतीय पुरातत्त्व में उसने व्यापक परिवर्तन किस प्रकार किया ?
उत्तर : जॉन मार्शल भारतीय पुरातात्विक सर्वेक्षण के डायरेक्टर जनरल थे। उनमें आकर्षक खोजों में दिलचस्पी और दैनिक जीवन की पद्धतियों को जानने की भी उत्सुकता थी। 1924 में उन्होंने पूरे विश्व के समक्ष सिंधु घाटी में एक नवीन सभ्यता की खोज की घोषणा की। वस्तुतः उन्होंने भारत को जहाँ पाया था, उसे उससे तीन हजार वर्ष पीछे छोड़ दिया।

प्रश्न 3. हड़प्पन स्थलों की जल-निकास प्रणाली की विशेषताओं का उल्लेख कीजिए।
उत्तर : (i) हड़प्पा-शहरों की सबसे अनूठी विशिष्टताओं में से एक ध्यानपूर्वक नियोजित जल निकास प्रणाली थी। सड़कों तथा गलियों को लगभग एक ‘ग्रिड’ पद्धति में बनाया गया था और ये एक-दूसरे को समकोण पर काटती थीं।
(ii) ऐसा प्रतीत होता है कि पहले नालियों के साथ गलियों को बनाया गया था और फिर उनके अगल-बगल आवासों का निर्माण किया था।

प्रश्न 4. विशाल स्नानागार, जो हड़प्पा के नगरों के दुर्ग में पाया गया है, उसकी दो विशेषताएँ बताइए।
उत्तर : (i) यह दुर्ग के आंगन में बना हुआ एक आयताकार जलाशय है और चारों तरफ से गलियारे से घिरा हुआ है।
(ii) जलाशय (स्नानगृह) तक पहुंचने के लिए इसके ऊपरी तथा दक्षिणी भाग में दो सीढ़ियाँ बनी हुई थीं।
(iii) विद्वानों का मत है कि इस स्नानघर से यह संकेत मिलता है कि इसका प्रयोग किसी विशेष अनुष्ठान जाता था। के लिए किया

प्रश्न 5. हड़प्पा संस्कृति को कांस्य युग सभ्यता क्यों कहते हैं ?
उत्तर : (i) हड़प्पा के लोगों को ताँबे में टिन मिलाकर काँसा बनाने की विधि आती थी। (ii) काँसे की सहायता से ही हडप्पा के लोग उन्नति के शिखर पर पहुँच सके। उन्होंने एक नगरीय सभ्यता का विकास किया। अतः हड़प्पा संस्कृति को कांस्य युग सभ्यता कहते हैं।

प्रश्न 6. हड़प्पा की लिपि की कोई दो विशेषताएँ लिखिए।
उत्तर :(i) हड़प्पा लिपि वर्णमालीय नहीं थी, बल्कि चित्रमय थी।
(ii) यह संभवत: दाईं ओर से बाईं ओर लिखी जाती थी, क्योंकि कुछ मोहरों पर दाईं ओर चौड़ा अंतराल है, जबकि बाईं ओर यह संकुचित है, जैसे लिखते-लिखते स्थान कम पड़ गया हो।

प्रश्न 7. हड़प्पावासियों के रिहाइशी भवनों के लिए गृह-स्थापत्य की दो विशेषताओं का उल्लेख कीजिए।
उत्तर : (i) हड़प्पावासी ईंट से बने रिहाइशी भवनों में रहते थे।
(ii) ये भवन एक निश्चित योजना को ध्यान में रखकर बनाए जाते थे।
(iii) हर घर में एक स्नानघर होता था। इसका फर्श ईंटों से
(iv) कई मकानों, भवनों में कुएँ भी होते थे। (कोई दो) बना होता था।

प्रश्न 8, हड़प्पा-पूर्व की बस्तियों की क्या विशेषताएँ थीं ?
उत्तर : (i) हड़प्पा-पूर्व की बस्तियाँ प्राय: छोटी होती थी और इनमें बड़ी संरचनाएँ नाममात्र ही थीं ।
(ii) इनकी अपनी विशिष्ट मृदभांड शैली थी।
(iii) इनमें कृषि तथा पशुपालन भी प्रचलित था। लोग शिल्पकारी भी करते थे।

प्रश्न 9. हड़प्पाई संस्कृति के पाँच विकसित क्षेत्रों के नाम लिखिए। 
उत्तर : 1, हड़प्पा, 2, मोहनजोदड़ो, 3. लोथल, 4.कालीबंगा, 5. चन्हूदड़ो, 6. बनवाली, 7. रोपड़। प्रश्न 44, हड़प्पा बस्तियों के विभाजित दो भागों के नाम व उनकी एक-एक मुख्य विशेषता का उल्लेख कीजिए।

प्रश्न 10. हड़प्पा निवासियों की कब्रों में मिली किन्हीं चार वस्तुओं का उल्लेख कीजिए।
उत्तर : पुरुषों और महिलाओं, दोनों के आभूषण, मृदभांड, शंख के तीन छल्ले, जैस्पर (एक प्रकार का उपरत्न) के मनके तथा सैकड़ों की संख्या में सूक्ष्म मनकों से बना एक आभूषण । 

प्रश्न 11. आर.ई.एम. व्हीलर कौन था ? भारतीय पुरातत्त्व में उसके किसी एक योगदान का उल्लेख कीजिए। 
उत्तर : आर. ई. एम. व्हीलर एक पुरातत्वविद थे। 1944 ई० में इन्हें भारतीय पुरातात्विक सर्वेक्षण के डायेरक्टर जनरल बनाया गया था। इनका मानना था कि एक समान क्षैतिज इकाइयों के आधार पर खुदाई की बजाय टीले के स्तर विन्यास का अनुसरण करना अधिक आवश्यक था।

You cannot copy content of this page
Scroll to Top

Live Quiz : बंधुत्व जाति और वर्ग | 04:00 pm