1 अंकीय प्रश्न उत्तर – राजा किसान और नगर – Class 12th History Chapter 2

Index

1. ईंट मनके और अस्थियाँ

1. आरंभ 2. निर्वाह के तरीके 3. मोहनजोदड़ो 4. सामाजिक विभिन्नताओं का अवलोकन 5. शिल्प उत्पादन के विषय में जानकारी 6. माल प्राप्त करने सम्बन्धी नीतियाँ 7. मुहरें लिपि तथा बाट 8. प्राचीन सभ्यता 9. सभ्यता का अंत 10. हड़प्पा सभ्यता की खोज 11. अतीत को जोड़कर पूरा करने की समस्याएं मानचित्र बहुविकल्पीय प्रश्न उत्तर 1 अंकीय प्रश्न उत्तर 2 अंकीय प्रश्न उत्तर

2. राजा किसान और नगर

बहुविकल्पीय प्रश्न उत्तर

3. बंधुत्व जाति और वर्ग

बहुविकल्पीय प्रश्न उत्तर

4. विचारक विश्वास और इमारतें

बहुविकल्पीय प्रश्न उत्तर 1 बहुविकल्पीय प्रश्न उत्तर 2

6. भक्ति सूफी और परम्पराएँ

बहुविकल्पीय प्रश्न उत्तर

7. एक साम्राज्य की राजधानी विजयनगर

बहुविकल्पीय प्रश्न उत्तर

8. उपनिवेशवाद और देहात

बहुविकल्पीय प्रश्न उत्तर

10. उपनिवेशवाद और देहात

बहुविकल्पीय प्रश्न उत्तर

11. विद्रोह और राज

बहुविकल्पीय प्रश्न उत्तर

13. महात्मा गाँधी और आन्दोलन

बहुविकल्पीय प्रश्न उत्तर

15. संविधान का निर्माण

बहुविकल्पीय प्रश्न उत्तर

प्रश्न 1. वैदिक काल में राजाओं द्वारा आयोजित किए जाने वाले दो यज्ञों के नाम लिखो।
उत्तर : (i) राजसूय यज्ञ। (ii) अश्वमेघ यज्ञ।

प्रश्न 2. मौर्य साम्राज्य के पाँच महत्त्वपूर्ण राजनीतिक केंद्रों के नाम लिखिए।
उत्तर : 1. पाटलिपुत्र, 2. तक्षशिला. 3. उज्जैन (या उज्जयिनी), 4. तोशाली. 5. सुवर्णगिरी।

प्रश्न 3. प्रारंभिक भारतीय इतिहास में मौर्य साम्राज्य को एक प्रमुख काल क्यों माना गया था?
उत्तर : प्रारंभिक भारतीय इतिहास में मौर्य साम्राज्य को एक प्रमुख काल माना गया है क्योंकि यह भारतीय इतिहास का पहला विशाल साम्राज्य था जिसमें राजनीतिक एवं आर्थिक क्षेत्रों में बहुत-सी नई प्रवृत्तियों का विकास हुआ।

प्रश्न 3. मुद्राशास्त्र से क्या अभिप्राय है ?
उत्तर : मुद्राशास्त्र से अभिप्राय सिक्कों के अध्ययन से है। इसमें सिक्कों पर मिलने वाले चित्रों, लिपि तथा सिक्कों की धातुओं का अध्ययन शामिल है।

प्रश्न 4. महाजन पद के किन्हीं छ: राज्यों के नाम लिखिए।
उत्तर : वज्जि, मगध, कोशल, कुरु, गांधार और अवन्ति। 

प्रश्न 5. दक्षिण भारत में मौर्य के युग के समकालीन तीन प्रमुख शासक जातियों अथवा राज्यों के नाम बताइए। 
उत्तर : चोल या चोल राज्य दूसरा चेर (वर्तमान केरल) या चेर राज्य और तीसरा पांडेय या पांडेय राज्य।

प्रश्न 6. जेम्स प्रिंसेप के योगदान को भारतीय अभिलेख-विज्ञान में एक ऐतिहासिक प्रगति क्यों माना जाता है?
उत्तर : जेम्स प्रिंसेप के योगदान को भारतीय अभिलेख विज्ञान के इतिहास में महत्त्वपूर्ण माना जाता है क्योंकि उसने सबसे पहले ब्राह्मी लिपि को पढ़ने तथा समझने में सहायता की।

प्रश्न 7. संगम ग्रंथ क्या हैं ?
उत्तर : संगम ग्रंथ तमिल भाषा के ग्रंथ हैं। ये एक प्रकार की कविताएँ हैं जिनसे हमें पता चलता है कि तमिलकम क्षेत्र में सरदारों ने अपने स्रोतों का संकलन और वितरण किस प्रकार किया।

प्रश्न 8. समाहर्ता’ क्या है?
उत्तर : मौर्यों ने अपनी आय निश्चित करने के लिये करों के निर्धारण वसूली और संग्रह पर बहुत जोर दिया। कर निर्धारण करने वाले अधिकारियों को ‘समाहर्ता’ के नाम से जाना जाता था।

प्रश्न 9. ‘सन्निधाता’ शब्द का आशय स्पष्ट करें। 
उत्तर : मौर्यों के समय में कर निर्धारण करने वाले अधिकारी को समाहर्ता कहा जाता था, जबकि कर वसूली और संग्रह करने वाले अधिकारी को सन्निधाता कहा जाता था। 

प्रश्न 10. मौर्य साम्राज्य के चार प्रांतों और उनकी राजधानियों के नाम लिखिए। 
उत्तर : (i) उत्तरापथ की राजधानी तक्षशिला। (ii) प्राच्य की राजधानी पाटलिपुत्र। (iii) दक्षिणापथ की राजधानी सुवर्णगिरी। (iv) अवंति की राजधानी उज्जियनी या उज्जैन नगरी। 

प्रश्न 11. असोक द्वारा धारण की गई दो उपाधियों के नाम तथा उनके अर्थ बताओ।
उत्तर : अशोक ने ‘देवानांप्रिय’ तथा ‘पियदस्सी’ की उपाधियाँ धारण कीं। ‘देवानांप्रिय’ का अर्थ है-देवताओं का प्रिय तथा ‘पिचदस्सी’ का अर्थ है-देखने में सुंदर।

प्रश्न 12. अभिलेख (Inscriptions) का क्या अर्थ है?
उत्तर : अभिलेख उन लेखों को कहा जाता है, जो स्तंभों, चट्टानों, गुफाओं, ताम्रपत्रों और पत्थरों की चौड़ी पट्टियों पर खुदे तत्कालीन शासकों के शासन का सामाजिक, राजनैतिक, आर्थिक व धार्मिक चित्र खींचते हैं।

प्रश्न 13. सुदर्शन झील का निर्माण कब और किसने करवाया ? इसकी मरम्मत किस-किस शासक ने करवाई ? 
उत्तर : एक अभिलेख के अनुसार सुदर्शन झील का निर्माण मौर्यकाल में एक स्थानीय राज्यपाल ने करवाया। इसकी मरम्मत शक शासक रुद्रदमन तथा गुप्त शासक ने करवाई थी। 

प्रश्न 14. ‘शतक’ (Shatak) पद से आप क्या समझते है?
उत्तर : ‘शतक’ एक विशेष प्रकार का वस्त्र होता था। इसे मथुरा में बनाया जाता था। विदेशों में इस वस्त्र की अत्यधिक माँग थी। इसके निर्यात से भारत को बहुत सी, विदेशी मुद्रा प्राप्त होती थी।

प्रश्न 15. ‘विष्टि’ (Vishti) पद का क्या अर्थ है?
उत्तर : विष्टि का अर्थ है बेगार अर्थात् काम के बदले मजदूरी न मिलना। गुप्त काल में भी विष्टि प्रथा थी, दूसरे शब्दों में सरकारी सेना एवं अधिकारियों से विष्टि (अर्थात् बेगार) कराई जाती थी।

प्रश्न 16. मुक्ति’ (Bhukti) शब्द का क्या आशय है? 
उत्तर : गुप्त काल में प्रांत को ‘भुकि्ति’ कहा जाता था। प्रांत भी कई इकाइयों में बंटा हुआ था। भुक्ति का प्रबंध मुख्यत: राजकुमारों अथवा राजवंश के विश्वस्त लोगों को ही सौंपा जाता था। हैं?

प्रश्न 17. ‘विषय’ (Vishai) शब्द से आप क्या समझते है? 
उत्तर : गुप्त काल में प्रांत या भुक्तियाँ आगे जिलों (जनपद) में विभाजित थीं जिन्हें ‘विषय’ कहा जाता था और इनके मुख्य अधिकारी को विषयपति कहा जाता था।

प्रश्न 18. ‘वीथी’ (Vithi) शब्द को परिभाषित कीजिए।
उत्तर : ‘वीरथी’ तहसील का समानार्थक है। एक ‘वीथी’ के अंतर्गत कई गाँव होते थे अर्थात् ‘वीथी’ की निचली इकाई गाँव कहलाती थी।

You cannot copy content of this page
Scroll to Top

Live Quiz : ईंट मनके और अस्थियाँ | 04:00 pm