Class 12th Political Science भाग-2 Chapter 2 Important Question Answer 2 Marks एक दल के प्रभुत्व का दौर

प्रश्न 1.लोकतांत्रिक चुनावों द्वारा दुनिया में पहली बार कम्युनिस्ट पार्टी की सरकार कहाँ और कब बनी ?
उत्तर : लोकतांत्रिक चुनावों द्वारा दुनिया में पहली बार • कम्युनिस्ट पार्टी की सरकार केरल में 1957 में बनी। कम्युनिस्ट पार्टी को कुल 126 में से 60 सीटें विधानसभा चुनावों में हासिल हुईं।

प्रश्न 2. एक दल के प्रभुत्व से आप क्या समझते हैं ?
उत्तर : एक दलीय प्रभुत्व व्यवस्था उसे कहते हैं, जहाँ बहुदलीय पद्धति के अन्तर्गत किसी एक दल की प्रधानता होती है। एक दलीय प्रभुत्व व्यवस्था में यद्यपि अन्य भी कई दल होते हैं परंतु उनका राजनीतिक महत्त्व अधिक नहीं होता, क्योंकि लोगों का उन्हें अधिक समर्थन प्राप्त नहीं होता। ऐसी व्यवस्था में मतदाता केवल एक ही दल को अधिक महत्त्व देते हैं। भारत एक दलीय प्रभुत्व व्यवस्था का एक प्रत्यक्ष उदाहरण रहा है।

प्रश्न 3. भारत की किन्हीं दो राष्ट्रीय पार्टियों के नाम एवं उनके चुनाव चिह्न बताइए।
उत्तर : भारत की दो राष्ट्रीय पार्टियों के नाम निम्नलिखित हैं: (1) कांग्रेस पार्टी (2) भारतीय जनता पार्टी।
कांग्रेस पार्टी का चुनाव चिह्न “हाथ” है जबकि भारतीय जनता पार्टी का “कमल” का फूल है।

प्रश्न 4. क्या भारत में बहुदलीय प्रणाली है ? बताइएकैसे ।
उत्तर : हाँ, भारत में बहुदलीय प्रणाली है। यहाँ विभिन्न राजनीतिक दल विभिन्न हितों का प्रतिनिधित्व करते हैं। भारत में अब एक दल की प्रधानता का युग समाप्त हो चुका है। भारत में अनेक क्षेत्रीय दल हैं, जो सत्ता पाने या शासन में महत्त्वपूर्ण भूमिका अदा करने का सदा प्रयास करते रहते हैं।

प्रश्न 5. भारत के समाजवादी दलों तथा साम्यवादी दलों में कोई दो अन्तर स्पष्ट कीजिए |
उत्तर : 1. समाजवादी लोकतांत्रिक समाजवाद की विचारधारा में यकीन रखते थे। साम्यवादी रूस की क्रांति से प्रभावित थे तथा देश की समस्याओं के समाधान हेतु साम्यवाद की राह अपनाने की वकालत करते थे।
2.पहले आम चुनावों में समाजवादियों को कोई खास कामयाबी हासिल नहीं हुई थी, जबकि साम्यवादियों को पहले आम चुनावों में 16 सीटें मिली थीं तथा यह सबसे बड़ी विपक्षी पार्टी बनकर सामने आई।

प्रश्न 6. भारतीय जनसंघ की किन्हीं दो विशेषताओं को उजागर कीजिए ।
उत्तर : (i) यह अखंड भारत (भारत + पाकिस्तान) बनाने के प्रति आस्थावान था।
(ii) इसने पाकिस्तान के प्रति कठोर रुख अपनाने, संयुक्त राष्ट्र से कश्मीर के मुद्दे को वापस लेने तथा कश्मीर का भारत में पूर्णत: विलय करने की माँग की।

प्रश्न 7. भारत में किस चुनाव प्रणाली को अपनाया गया है ?
उत्तर : भारत में सार्वभौमिक वयस्क मताधिकार प्रणाली को अपनाया गया है जिसमें देश के सभी 18 वर्ष की आयु तथा उससे बड़ी आयु के नागरिक बिना किसी भी संकीर्ण आधार के भेदभाव के (यानी उनमें लिंग, जाति, धर्म, क्षेत्र, भाषा, स्थिति आदि के आधार पर भेदभाव नहीं होता) अपने प्रतिनिधि लोकसभा तथा राज्य विधान सभाओं के लिए चुनते हैं जो केंद्र तथा राज्य सरकारों का गठन करते हैं।

प्रश्न 8. आलोचक ऐसा क्यों सोचते थे कि भारत में चुनाव सफलतापूर्वक नहीं कराए जा सकेंगे ? किन्हीं दो कारणों का उल्लेख कीजिए ।
उत्तर : 1. भारत क्षेत्र तथा जनसंख्या की दृष्टि से बहुत बड़ा देश है तथा शुरू से सभी 21 वर्ष के वयस्कों (जिनमें स्त्री-पुरुष शामिल थे) को सर्वव्यापक मताधिकार के आधार पर मताधिकार दे दिया गया। इतने बड़े निर्वाचक मंडलों के लिए व्यवस्था करना। बहुत कठिन था।
2.भारत के अधिकांश मतदाता अशिक्षित थे जिससे स्वतंत्र एवं समझदारी से मताधिकार का प्रयोग होगा-लोगों को भरोसा नहीं था, जो कालान्तर में उनका मात्र एक भ्रम साबित हुआ।

प्रश्न 9. भारतीय जनसंघ ने किन दो प्रमुख विचारों पर विशेष बल दिया ?

अथवा

भारतीय जनसंघ की विचारधारा की किन्हीं दो महत्त्वपूर्ण विशेषताओं का उल्लेख कीजिए |
उत्तर : 1. भारतीय जनसंघ ने ‘एक देश एक संस्कृति और एक राष्ट्र’ के विचार पर जोर दिया। इसका मानना था कि देश भारतीय संस्कृति और परंपरा के आधार पर आधुनिक, प्रगतिशील और ताकतवर बन सकता है। 2. भारतीय जनसंघ ने भारत और पाकिस्तान को एक करके ‘अखंड भारत’ बनाने की बात कही।

प्रश्न 10. भारतीय जनसंघ की किन्हीं दो विचारधाराओं को लिखिए।
उत्तर : इस दक्षिणपंथी दल की स्थापना 1951 में डॉ० श्यामा प्रसाद मुखर्जी ने की। इसकी दो विचारधाराएँ निम्नवत् हैं : (i) यह अखंड भारत (भारत + पाकिस्तान) बनाने के प्रति आस्थावान था।
(ii) इसने पाकिस्तान के प्रति कठोर रुख अपनाने, संयुक्त राष्ट्र से कश्मीर के मुद्दे को वापस लेने तथा कश्मीर का भारत में पूर्णतः विलय करने की माँग की।

प्रश्न 11. भारत में 1967 के आम चुनावों में किन्हीं चार राज्यों का उल्लेख कीजिए जहाँ कांग्रेस को बहुमत मिला था।
उत्तर : वे प्रदेश जहाँ कांग्रेस को 1967 के विधानसभा में बहुमत मिला था, वे थे : 1. जम्मू और कश्मीर, 2. गुजरात, 3. मध्य प्रदेश, 4. महाराष्ट्र, 5. मैसूर (अब कर्नाटक कहलाता है), 6. आंध्र प्रदेश, 7. असम । (नोट : कोई चार नाम लिखिए।

प्रश्न 12. 1962 के भारत-चीन संघर्ष का भारत के साम्यवादी दल पर क्या प्रभाव पड़ा।
उत्तर : साम्यवादी और समाजवादी पार्टी ने व्यापक समानता के लिए संघर्ष छेड़ दिया। मार्क्सवादी कम्युनिस्ट पार्टी से अलग हुए साम्यवादियों के एक समूह ने मार्क्सवादी-लेनिनवादी भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी बनायी और सशस्त्र कृषक विद्रोह का नेतृत्व किया, साथ ही इस पार्टी ने किसानों के बीच विरोध को संगठित किया। इस अवधि में गंभीर किस्म के हिंदू-मूसलमानों में दंगे हुए।

प्रश्न 13. ‘एक दलीय व्यवस्था’ तथा ‘एक दल के वर्चस्व (प्रभुत्व)’ में अंतर स्पष्ट कीजिए ।
उत्तर : (i) ‘एक दलीय व्यवस्था’ के तहत संविधान द्वारा एक दल को ही देश पर शासन करने का अधिकार होता है; जैसे-चीन, क्यूबा तथा सीरिया ।
(ii) जब सभी राजनीतिक दलों को स्वतंत्र तथा निष्पक्ष चुनाव लड़ने का समान अधिकार होता है लेकिन ‘एक दल का वर्चस्व (प्रभुत्व)’ होता है जैसे-भारत तथा दक्षिण अफ्रीका (रंगभेद नीति के बाद) ।

प्रश्न 14. भारतीय जन संघ का कौन सा सदस्य प्रधानमंत्री नेहरू के पहले मंत्रिपरिषद् में मंत्री बना? उसने कब और क्यों इस्तीफा दिया?
उत्तर : (i) श्यामा प्रसाद मुखर्जी। (ii) उन्होंने पाकिस्तान के साथ संबंधों को लेकर अपने मतभेदों के चलते 1950 में इस्तीफा दिया। इनका मानना था कि “भारत और पाकिस्तान” को एक करके ” अखंड भारत” बनाया जाए।

You cannot copy content of this page
Scroll to Top

Live Quiz : बंधुत्व जाति और वर्ग | 04:00 pm