Class 12th Political Science भाग-2 Chapter 9 Important Question Answer 2 Marks भारतीय राजनीति : नए बदलाव

प्रश्न 1. भारत में केंद्रीय स्तर पर गठबन्धन सरकार का युग कब प्रारम्भ हुआ और क्यों ?
उत्तर : गठबन्धन का युग : 1989 के बाद लोकसभा (केंद्रीय स्तर) के चुनावों में कभी भी किसी एक पार्टी को पूर्ण बहुमत नही मिला। इस बदलाव के साथ केन्द्र में गठबन्धन सरकारों का दौर शुरू हुआ और क्षेत्रीय पार्टियों ने गठबन्धन सरकार बनाने में महत्वपूर्ण भूमिका अदा की।

प्रश्न 2. 1996 के आम चुनावों में सबसे बड़ी पार्टी के रूप में उभरने के पश्चात् सरकार बनाने का निमन्त्रण मिलने पर भी असफल रहने का भाजपा पर क्या प्रभाव पड़ा?
उत्तर : भाजपा ने गठबंधन के निर्माण की आवश्यकता महसूस की और राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (राजग) का निर्माण किया। इसके अगुआ के रूप में भाजपा मई, 1998 से जून, 1999 तक और अक्टूबर, 1999 से मई, 2004 तक सत्ता में रही।

प्रश्न 3. “गठबंधन सरकार” की व्याख्या कीजिए ।
उत्तर : अनेक पार्टियाँ एक मोर्चा या गठबंधन बनाकर जब एक न्यूनतम सांझा कार्यक्रम के अन्तर्गत सरकार का गठन कर हैं तो उसे गठबंधन सरकार कहते हैं। वे दल उसमें प्रत्यक्ष रूप से शामिल भी हो सकते हैं या कुछ दल उस गठबंधन के बाहर से समर्थन भी दे सकते हैं। केन्द्र में पहली गठबन्धन सरकार 1989 में वी.पी. सिंह के नेतृत्व में बनी थी।

प्रश्न 4. 1989 के बाद की अवधि में भारतीय राजनीति के मुख्य मुद्दे क्या रहे थे ?
उत्तर : 1989 के बाद की अवधि में भारतीय राजनीति के मुख्य मुद्दे निम्नलिखित रहे :
1.अन्य पिछड़ा वर्ग को आरक्षण व मंडल मुद्दे का उदय।
2. नई आर्थिक नीति अपनाना जिससे सुधार में परिवर्तन
3. बाबरी मस्जिद के विध्वंस से भारतीय राष्ट्रवाद और धर्मनिरपेक्षता पर विवाद।
4. 1989 में कांग्रेस की हार व गठबंधन सरकारों का युग प्रारंभ। 5. कांग्रेस का प्रभुत्व समाप्त। विभिन्न मुद्दों जैसे नई आर्थिक नीति, पिछड़ा वर्ग की राजनीति व सामाजिक दावे की सहमति पर स्वीकृत ।

प्रश्न 5. गठबंधन सरकार से क्या अभिप्राय है? भारत में केन्द्रीय स्तर पर गठबंधन सरकार का दौर कब शुरू हुआ?
उत्तर : 1. अभिप्राय : गठबंधन का अर्थ है राजनीतिक तौर पर चुनाव के पहले या बाद मे आवश्यकतानुसार राजनीतिक दलों में सरकार गठित करने या किसी अन्य राजनीतिक मसले पर (उदाहरणार्थ राष्ट्रपति चुनाव) आपसी सहमति बन जाए और सामान्यतः स्वीकृत न्यूनतम साझा कार्यक्रम के अनुसार राजनीतिक समझौता कर लेना।
2.केंद्रीय स्तर पर पहली बार पूर्णतया गठबंधन की लोकप्रिय सरकार 2 दिसंबर 1989 से 10 नवंबर, 1990 तक वी.पी. सिंह के प्रधानमंत्रित्व या नेतृत्व में बनी थी।

प्रश्न 6. राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (NDA) की सबसे बड़ी विशेषता क्या थी?
उत्तर : यह सबसे बड़े विरोधी दल भारतीय जनता पार्टी के नेतृत्व में बने लगभग 13 राजनैतिक पार्टियों (या उससे अधिक) का गठबंधन था जिसकी सरकार अटल बिहारी वाजपेयी के नेतृत्व में तीन बार बनी। इसका कुल कार्यकाल लगभग 6 वर्ष रहा। वाजपेयी कुछ ही दिनों तक पहली बार प्रधानमंत्री रहे लेकिन आज तक जितने भी गैर कांग्रेसी प्रधानमंत्री बने हैं, उनका कार्यकाल कुल मिलाकर सर्वाधिक दीर्घ ही रहा

प्रश्न 7. गठबंधन सरकार की एक राजनीतिक समस्या का विश्लेषण कीजिए।
उत्तर : गठबंधन की राजनीति में विचारों की एकरूपता नहीं होती। बार-बार पार्टियाँ गठबंधन छोड़ती हैं और प्रायः गठबंधन टूटते रहते हैं या बदलते रहते हैं। इससे लोगों का बहुदलीय प्रणाली में विश्वास कम होता है। प्रायः वे दो दलीय या तीन अथवा कभी-कभी एक दलीय प्रणाली के समर्थक भी बन जाते हैं।
गठबंधन की सरकारें अस्थायी, कम गतिशील और खतरे की लटकी हुई तलवार के नीचे कार्य करती हैं।

प्रश्न 8. सर्वोच्च न्यायालय में उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री के खिलाफ 1993 में मुकदमा क्यों दायर हुआ? उनको क्या दंड दिया गया?
उत्तर : सर्वोच्च न्यायालय में उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री के खिलाफ 1993 में न्यायालय की अवमानना का मुकदमा दर्ज किया गया क्योंकि मुख्यमंत्री ने वचन दिया था कि ‘विवादित स्थल’ की रक्षा की जायेगी। उन्हें जेल भेजा गया।

प्रश्न 9. गठबंधन की सरकार किस प्रकार लोकतंत्र को सुदृढ़ बनाती है ?
उत्तर : गठबंधन सरकार के कारण विभिन्न दलों से आपसी सहमति में वृद्धि हुई है जैसे आर्थिक नीति पर सहमति होना। इसके परिणामस्वरूप प्रांतीय दलों की भूमिका महत्त्वपूर्ण हो गई है। अब केंद्रीय सरकार प्रांतीय हितों को ध्यान में रखकर नीति निर्माण करती है।

प्रश्न 10. 1996 के चुनावों में भाजपा सबसे बड़ी पार्टी होने के बावजूद सरकार का निर्माण करने में असफल क्यों रही?
उत्तर : 1996 में भाजपा लोकसभा चुनावों में 160 सीटें जीतकर सबसे बड़ी पार्टी के रूप में उभरी। इस कारण उसे सरकार बनाने का निमन्त्रण प्राप्त हुआ परन्तु अधिकांश दल भाजपा की नीतियों के विरुद्ध थे इसलिए यह सरकार लोकसभा में बहुमत प्राप्त नहीं कर सकी और असफल रही।

प्रश्न 11. 1984 से 2004 तक कांग्रेस और भाजपा (बी.जे.पी.) की चुनावी हार-जीत का बदलता परिदृश्य कैसा था ?
उत्तर : (i) 1984 से 2004 के चुनावी परिदृश्य में कांग्रेस तथा बीजेपी दोनों ही 50% से अधिक मत हासिल नहीं कर सके। दोनों ही दल लोकसभा की आधी से अधिक सीटें नहीं जीत सके।
(ii) कांग्रेस तथा बीजेपी के नेतृत्व वाले राजनीतिक गठबंधनों में प्रतिद्वंद्विता जारी रही।

You cannot copy content of this page
Scroll to Top

Live Quiz : बंधुत्व जाति और वर्ग | 04:00 pm