1 अंकीय प्रश्न उत्तर – औंपनिवेशक शहर ( नगरीकरण , नगर – योजना , स्थापत्य ) – Class12th History Chapter 12

Index

1. ईंट मनके और अस्थियाँ

1. आरंभ 2. निर्वाह के तरीके 3. मोहनजोदड़ो 4. सामाजिक विभिन्नताओं का अवलोकन 5. शिल्प उत्पादन के विषय में जानकारी 6. माल प्राप्त करने सम्बन्धी नीतियाँ 7. मुहरें लिपि तथा बाट 8. प्राचीन सभ्यता 9. सभ्यता का अंत 10. हड़प्पा सभ्यता की खोज 11. अतीत को जोड़कर पूरा करने की समस्याएं मानचित्र बहुविकल्पीय प्रश्न उत्तर 1 अंकीय प्रश्न उत्तर 2 अंकीय प्रश्न उत्तर

2. राजा किसान और नगर

बहुविकल्पीय प्रश्न उत्तर

3. बंधुत्व जाति और वर्ग

बहुविकल्पीय प्रश्न उत्तर

4. विचारक विश्वास और इमारतें

बहुविकल्पीय प्रश्न उत्तर 1 बहुविकल्पीय प्रश्न उत्तर 2

6. भक्ति सूफी और परम्पराएँ

बहुविकल्पीय प्रश्न उत्तर

7. एक साम्राज्य की राजधानी विजयनगर

बहुविकल्पीय प्रश्न उत्तर

8. उपनिवेशवाद और देहात

बहुविकल्पीय प्रश्न उत्तर

10. उपनिवेशवाद और देहात

बहुविकल्पीय प्रश्न उत्तर

11. विद्रोह और राज

बहुविकल्पीय प्रश्न उत्तर

13. महात्मा गाँधी और आन्दोलन

बहुविकल्पीय प्रश्न उत्तर

15. संविधान का निर्माण

बहुविकल्पीय प्रश्न उत्तर

Class 12th History Chapter 12 Important Question Answer 1 Marksऔपनिवेशक शहर(नगरीकरण, नगर-योजना, स्थापत्य)

प्रश्न 1. ग्रामीण इलाकों तथा कस्बों के चरित्र में भिन्नता के कोई दो बिंदु लिखिए।
उत्तर : 1. ग्रामीण अंचलों में लोग खेती, जंगलों में संग्रहण या पशुपालन द्वारा जीवन-निर्वाह करते थे । इसके विपरीत कस्बों में शिल्पकार, व्यापारी, प्रशासक, शासक आदि रहते थे।
2.कस्बों का ग्रामीण जनता पर प्रभुत्व होता था। वे खेती से मिलने वाले करों और अधिशेष के आधार पर फलते-फूलते थे। 3. कस्बों और शहरों की प्रायः किलेबंदी की जाती थी। यह किलेबंदी इन्हें ग्रामीण क्षेत्रों से अलग करती थी। (कोई दो)

प्रश्न 2. 1857 के विद्रोह के बाद औपनिवेशिक शहरों के भवनों का स्वरूप किस प्रकार बदल गया? कोई दो उदाहरण दीजिए।
उत्तर : (i) सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए “सिविल लाइंस” के नाम से नए शहरी इलाकों को बसाया गया।
(ii) चौड़ी सड़कें, बड़े बगीचों में बने बंगलों, बैरकों, परेड मैदान और चर्च आदि से लैस छावनियाँ यूरोपीय लोगों के लिए एक सुरक्षित आश्रय स्थल बन गईं।

प्रश्न 3. हिल स्टेशन औपनिवेशिक अर्थव्यवस्था के लिए किस प्रकार महत्त्वपूर्ण थे ? कोई दो बिंदु लिखिए।
उत्तर : 1. इनके आस-पास चाय और कॉफी के बागान विकसित किए गए थे।
2. बागानों में काम करने के लिए बड़ी संख्या में मजदूर वहाँ आने लगे।

प्रश्न 4. पर्वतीय सैरगाह औपनिवेशिक अर्थव्यवस्था के लिए किस प्रकार महत्त्वपूर्ण थे? एक उदाहरण दीजिए।
उत्तर : पर्वतीय सैरगाह औपनिवेशिक अर्थव्यवस्था के लिए महत्त्वपूर्ण थे क्योंकि इनके नजदीकी इलाकों में चाय तथा कॉफी बागानों की स्थापना से मैदानी इलाकों से बड़ी संख्या में मजदूर वहाँ पहुँचने लगे।

प्रश्न 5. 1853 में प्रारंभ हुई रेलवे से शहरों की कायापलट कैसे हो गई? किन्हीं दो परिवर्तनों का उल्लेख कीजिए।

अथवा

1853 में रेलवे की शुरूआत ने शहरों की किस प्रकार काया पलट दी ?. दो उदाहरण दीजिए।
उत्तरः (i) आर्थिक गतिविधियों का केंद्र परंपरागत शहरों से दूर जाने लगा क्योंकि ये शहर पुराने मार्गों तथा नदियों के समीप थे।
(ii) प्रत्येक रेलवे स्टेशन कच्चे माल के संग्रह तथा आयातित वस्तुओं के वितरण का केंद्र बन गया।

प्रश्न 6. 19वीं शताब्दी में भारतीय हिल स्टेशन यूरोपीय लोगों के जातीय अंतःक्षेत्र किस प्रकार बने ? दो कारण स्पष्ट कीजिए।
उत्तर : कारण : (i) हिल स्टेशन कई मायने में लाभप्रद थे। यहाँ की जलवायु ठंडी और मृदु थी। यह जलवायु इंग्लैण्ड की जलवायु से साम्य रखती थी। यूरोपीय लोग गर्म मौसम को बीमारियों की जड़ मानते थे। इसलिए हिल स्टेशन उनके लिए महत्त्वपूर्ण माना जाता था। (ii) हिल स्टेशन ऐसे अंग्रेजों यूरोपीय लोगों के लिए एक आदर्श स्थान था, जो अपने घर जैसी मिलती-जुलती बस्तियों में रहना चाहते थे। यही कारण था कि इनकी इमारतें यूरोपीय शैली की होती थीं।

प्रश्न 7. अंग्रेजों ने बंगाल में आरंभ से ही नगर-नियोजन का कार्यभार अपने हाथों में क्यों ले लिया ? कोई दो कारण लिखिए।
उत्तर : (i) अंग्रेज व्यापारी बंगाल के नवाब सिराजुद्दौला की संप्रभुसत्ता से असंतुष्ट थे। उसने उनसे मालगोदाम के रूप में प्रयोग किया जाने वाला छोटा किला छीन लिया था।
(ii) प्लासी के युद्ध (1757) में सिराजुद्दौला की हार के बाद अंग्रेजों ने कलकत्ता (बंगाल) में ऐसा किला बनाने का निर्णय किया जिस पर आसानी से आक्रमण न किया जा सके।

प्रश्न 8. पर्वतीय स्थान, औपनिवेशिक लोगों के लिए क्यों महत्त्वपूर्ण थे ? कोई दो कारण लिखिए।
उत्तर : 1.पर्वतीय स्थान फौजियों को ठहराने, सरहद की चौकसी करने तथा शत्रु के विरुद्ध हमला करने के लिए महत्त्वपूर्ण स्थान थे।
2.पर्वतीय स्थानों की जलवायु यूरोप की ठंडी जलवायु से मिलती-जुलती थी। इसलिए नये शासकों को वहाँ की जलवायु काफी अनुकूल लगती थी।

प्रश्न 9. ईस्ट इंडिया कंपनी द्वारा मद्रास में स्थापित किलेबंदी का नाम लिखिए। इसकी किसी एक विशेषता का उल्लेख कीजिए।
उत्तर : (i) ईस्ट इंडिया कंपनी द्वारा मद्रास में स्थापित किलेबंदी का नाम सेंट जॉर्ज किला या फोर्ट सेंट जॉज था। यह व्हाइट टाउन का केंद्र था जहाँ अधिकतर यूरोपीय रहते थे। दीवारों और बुर्जो ने इस एक विशेष प्रकार की घेराबंदी प्रदान की । (i) कंपनी के लोगों को भारतीयों के साथ विवाह करने की अनुमति नहीं दी। यूरोपीय ईसाई होने के कारण डचों और पुर्तगालियों का वहाँ रहने की छूट थी।

प्रश्न 10. सार्वजनिक भवन निर्माण में प्रयुक्त नव गॉथिक शैली की दो विशेषताओं का उल्लेख कीजिए ।
उत्तर : (i)नव-गॉथिक शैली की दो विशेषताएँ : (i) नव गॉथिक शैली में नुकीली मेहराबें तथा बारीक साज-सज्जा की जाती थी व छतें काफी ऊँची होती थीं।
(ii) नव गॉथिक शैली का प्रयोग ज्यादातर गिरजाघर बनाने के लिए होता था।

प्रश्न 11. 19वीं सदी के आखिर में भारत में ब्रिटिश सरकार द्वारा जनगणना की सुगम्य सांख्यिकी आँकड़ों में तब्दीली किस प्रकार भ्रमित करने वाली थी? स्पष्ट कीजिए।
उत्तर : जनगणना आयुक्तों ने जनसंख्या के विभिन्न तबकों का वर्गीकरण करने के लिए अलग-अलग श्रेणियाँ बना दी थीं। यह वर्गीकरण कई बार तर्कहीन होता था। उदाहरण के लिए एक से अधिक व्यवसाय साथ-साथ करने वाले के व्यवसाय को किसी भी श्रेणी में रख पाना संभव नहीं था।

प्रश्न 12. उपनिवेशवादी शासन के दो महत्त्वपूर्ण दृष्ट प्रभाव जो कलकत्ता और बंगाल की जनता के लिए हुए, लिखिए।
उत्तर : 1. 1766-67 ई. और 1768 दो वर्षों में कलकत्ता, बंगाल से लगभग 57 लाख पौंड की धन निकासी हुई अर्थात् दुर्भाग्यशाली बंगाल बहुत गरीब हो गया।
2.1707 में बंगाल में अकाल पड़ा, लाखों की संख्या में लोगों की मृत्यु हुई। कलकत्ता और बंगाल की एक तिहाई जनसंख्या मौत के मुँह में चली गई।

प्रश्न 13. ब्लैक टाउन एवं व्हाइट टाउन में अंतर स्पष्ट) कीजिए। अंतर के कोई दो बिंदु लिखिए।
उत्तर : (i) व्हाइट टाउन (गोरा शहर) वे इलाके थे जो ब्रिटिश आबादी के रूप में जाने जाते थे उदाहरण के लिए मद्रास में फोर्ट सेंट जॉर्ज, कलकत्ता में फोर्ट विलियम तथा बंबई में फोर्ट।
(ii) यूरोपीय व्यापारियों के साथ लेन-देन करने वाले भारतीय व्यापारी, कारीगर और कामगार इन किलों के बाहर बस्तियों में रहते तथा इन्हें ब्लैक टाउन (काला शहर ) कहा जाता था।

प्रश्न 14. अंग्रेजों के काल में भारत में बने सार्वजनिक भवन निर्माण के प्रमुख नव-शास्त्रीय शैली की दो विशेषताओं का उल्लेख कीजिए।
उत्तर : नव-शास्त्रीय शैली की दो विशेषताएँ (5) नव-शास्त्रीय शैली में बड़े-बड़े स्तंभों के पीछे रेखागणितीय संरचनाओं का निर्माण किया जाता था।
(ii) यह मूल रूप से प्राचीन रोम की भवन शैली थी जो औपनिवेशिक भारत की शान को दर्शाती थी।

प्रश्न 15. प्लासी युद्ध की विजय के बाद ( 1757) कलकत्ता नगर के आस-पास अंग्रेजों को कैसे क्षेत्रीय और आर्थिक लाभ हुआ ?
उत्तर : 1. बंगाल के अंग्रेजों के नए कठपुतली नवाब मीरजाफर से अंग्रेजों को कलकत्ता के पास चौबीस परगना की जमींदारी मिली।
2.कलकत्ता पर आक्रमण के हर्जाने के रूप में मीर जाफर ने अंग्रेजी कंपनी को और नगर के व्यापारियों को 1 करोड़ 70 लाख रुपए दिए।
3.कंपनी के अधिकारियों को उपहारों अर्थात् रिश्वतों के रूप में बड़ी रकमें दीं। उदाहरणार्थ-कर्नल क्लाइव को 20 लाख तथा एडमिरल वाटसन को 10 लाख रुपए दिए गए।

प्रश्न 16. अंग्रेजों के काल में सार्वजनिक भवन निर्माण में प्रयुक्त इंडो-सारासेनिक शैली की दो विशेषताओं का उल्लेख कीजिए।

अथवा

अंग्रेजों के काल में सार्वजतिनक भवन निर्माण में प्रयुक्त नव-शास्त्रीय शैली की दो विशेषताओं का उल्लेख कीजिए।
उत्तर : अंग्रेजों के काल में सार्वजनिक भवन निर्माण में प्रयुक्त नव-शास्त्रीय शैली की दो विशेषताएँ निम्नलिखित थीं : (i) यूरोपीय शैली उनकी श्रेष्ठता, अधिकार और सत्ता का प्रतीक थी।
(ii) यूरोपीय ढंग की दिखने वाली ये इमारतें औपनिवेशिक शासकों और भारतीय प्रथा के बीच स्पष्ट अंतर का सबूत थे।

प्रश्न 17. भारत में ब्रिटिशों द्वारा प्रारंभ की गई जनगणना के महत्व का उल्लेख कीजिए।
उत्तर : जनगणना की महत्ता (Importance of Census) : जनगणना एक ऐसा साधन थी जिसके जरिए आबादी के बारे में सामाजिक जानकारियों को सुगम्य आँकड़ों में तबदील किया जाता था। लेकिन इस प्रक्रिया में कई भ्रम थे। जनगणना आयुक्तों ने आबादी के विभिन्न तबकों का वर्गीकरण करने के लिए अलग अलग श्रेणियाँ बना दी थीं।

प्रश्न 18. दुबाश कौन थे? वे मद्रास ( चेन्नई ) में क्या करते थे? दो उदाहरणों का उल्लेख कीजिए।
उत्तर : (i) ये लोग ब्लैक टाउन में रहते थे और स्थानीय भाषा और अंग्रेजी दोनों को बोलना जानते थे।
(ii) वे एजेंट और व्यापारी के रूप में कार्य करते थे और ि भारतीय समाज और गाँवों के बीच मध्यस्थ की भूमिका निभाते थे। हि वे सम्पत्ति एकत्र करने के लिए सरकार में अपनी पहुँच का इस्तेमाल करते थे।

प्रश्न 19. पर्वतीय सैरगाह औपनिवेशिक अर्थव्यवस्था के लिए किस प्रकार महत्त्वपूर्ण थे? एक उदाहरण दीजिए।
उत्तर : पर्वतीय सैरगाह औपनिवेशिक अर्थव्यवस्था के लिए महत्त्वपूर्ण थे क्योंकि इनके नजदीकी इलाकों में चाय तथा कॉफी बागानों की स्थापना से मैदानी इलाकों से बड़ी संख्या में मजदूर वहाँ पहुँचने लगे।

प्रश्न 20. बंबई की स्थापत्य कला की नव-गॉथिक औली की दो विशेषताओं का उल्लेख कीजिए।
उत्तर : नवगॉथिक शैली की विशेषताएँ निम्नलिखित हैं :
(i) ऊँची उठी हुई छतें
(ii) नोंकदार मेहराब
(iii) बारीक साज-सज्जा
मुंबई में सचिवालय, मुंबई विश्वविद्यालय और उच्च न्यायालय इस शैली के उदाहरण हैं।

प्रश्न 21. व्हाइट टाउन के सैंट जॉर्ज किले की, जहाँ अधिकांश यूरोपीय रहते थे, दो विशेषताओं का उल्लेख कीजिए।
उत्तर : फोर्ट सेंट जॉर्ज (सेंट जॉर्ज किला) व्हाइट टाउन का केंद्रक बन गया जहाँ ज्यादातर यूरोपीय रहते थे। दीवारों और बुर्जों ने इसे एक खास किस्म की घेरेबंदी का रूप दे दिया था। किले के भीतर रहने का फैसला रंग और धर्म के आधार पर किया जाता था। कंपनी के लोगों को भारतीयों के साथ विवाह करने की इजाजत नहीं थी।

प्रश्न 22. कानपुर और जमशेदपुर सही अर्थों में “औद्योगिक शहर” क्यों माने जाते थे? कोई दो कारण लिखिए।
उत्तर : (i) कानपुर में चमड़े की वस्तुएँ, ऊनी तथा सूती कपड़ों का उत्पादन होता था।
(ii) जमशेदपुर स्टील उत्पादन के लिए प्रसिद्ध था।

प्रश्न 23. 1857 के विद्रोह के शाहजहानाबाद पर पड़े एक प्रभाव का उल्लेख कीजिए।
उत्तर : शहर के चारों ओर बनाई गई दीवारों को 1857 के बाद ढहा दिया गया था। चित्र के अनुसार लाल किला नदी के किनारे पर दिखाई दे रहा है। दायीं तरफ फासले पर रिज में आये ब्रिटिश बसावट और छावनी देख सकते हैं।

प्रश्न 24. कारण देकर स्पष्ट कीजिए कि भारत के उपनिवेश होने से पहले के अध्ययन के लिए इतिहासकार जनगणना पर क्यों विश्वास नहीं कर सके।
उत्तर : 1. जनगणना आयुक्तों द्वारा आबादी का वर्गीकरण विभिन्न श्रेणियों में कर दिया जाता था जो अत्यधिक अतार्किक होता था।
2.अत्यधिक लोग जनगणना अधिकारियों को ऐसी जानकारियाँ देते थे जिनसे उनकी हैसियत ऊँची बने रहे।

प्रश्न 25. नए औपनिवेशिक शहरों में यातायात की प्रारंभ की गई दो सुविधाओं का उल्लेख कीजिए तथा उसका एक महत्त्वपूर्ण प्रभाव भी बताइए।
उत्तर : (i) 1853 में रेलवे के प्रारंभ ने शहरों की कायापलट कर दी। इससे औपनिवेशिक शहर शेष भारत से जुड़ गए।
(ii) नई सुविधाओं के कारण जहाजरानी का भी विकास हुआ।

प्रश्न 26. औपनिवेशिक शहरों में भारतीय महिलाओं के लिए अवसरों पर एक सहयोगात्मक और एक रूढ़िवादी विचार का उल्लेख कीजिए।
उत्तर: औपनिवेशिक शहरों में भारतीय महिलाओं के लिए नए अवसर थे। जैसे कि मध्यवर्गीय महिलाओं को पत्र-पत्रिकाओं, और पुस्तकों के माध्यम से अभिव्यक्त करने का अवसर प्रदान हुआ।

प्रश्न 27. वैलेजली के 1817 में जाने के पश्चात् नगर नियोजन कार्य जिस एजेंसी ने संभाला उसका नाम लिखिए। उसका यह नाम क्यों रखा गया?
उत्तर : वेलेजली की विदाई के बाद नगर नियोजन का काम सरकार की मदद से लाटरी कमेटी (1817) ने जारी रखा। लाटरी कमेटी का यह नाम इसलिए पड़ा क्योंकि नगर सुधार के लिए पैसे की व्यवस्था जनता के बीच लॉटरी बेचकर ही की जाती थी।

प्रश्न 28. अंग्रेज विकसित होने वाले शहरों में जीवन की गति और दिशा पर नजर रखने के लिए कौन से तीन कार्य करते थे ?
उत्तर : 1. अंग्रेज नियमित रूप से शहरों का सर्वेक्षण कराते थे।
2.वे सांख्यिकी आँकड़े इकट्ठे कराते थे।
3.वे शहरों से संबंधित समय-समय विभिन्न प्रकार की सरकारी रिपोर्ट तैयार कराते थे।

प्रश्न 29. अखिल भारतीय जनगणना का सर्वप्रथम प्रयास कब किया गया ? इसके प्रारंभिक दो उद्देश्यों का उल्लेख कीजिए।
उत्तर : अखिल भारतीय जनगणना का सर्वप्रथम प्रयास 1872 में किया गया।
उद्देश्य : (i) लोगों के लिंग, जाति तथा व्यवसायों के आँकड़े प्राप्त करना।
(ii) बीमारियों में होने वाली मौतों की जानकारी प्राप्त करना।

प्रश्न 30. उस क्षेत्र का नाम लिखिए जहाँ 18वीं शताब्दी के दौरान लॉटरी कमेटी द्वारा नगर नियोजन की शुरुआत की गई थी। उसकी किसी एक विशेषता का उल्लेख कीजिए।
उत्तर : लॉटरी कमेटी द्वारा नगर-नियोजन की शुरुआत कोलकाता में हुई। विशेषता : नगर-नियोजन के लिए लॉटरी बेचकर पैसे इकट्ठे किये जाते थे।

प्रश्न 31. श्रमिक वर्ग के लोगों के बड़े शहरों की ओर आने के दो कारण बताइए।
उत्तर : शहरों के विकास के साथ-साथ बड़ी संख्या में श्रमिक वर्ग शहर की ओर निम्न कारणों से आकर्षित हुआ (1) शहरों में रोजगार के बेहतर अवसर थे । (ii) शहरों की जीवन शैली में जबरदस्त आकर्षण था।

प्रश्न 32. इंडो-सारासेनिक स्थापत्य शैली की कोई दो विशेषताएँ बताओ।
उत्तर : (i) यह एक मिश्रित शैली थी जिसमें भारतीय तथा यूरोपीय दोनों स्थापत्य शैलियों के तत्व पाए जाते थे।
(ii) यह शैली यहाँ की मध्यकालीन इमारतों-गुबंदों, छतरियों, मेहराबों आदि से काफी प्रभावित थी।

प्रश्न 33. ब्रिटिश शासक बंबई में जाना-पहचाना भूदृश्य बनाने के इच्छुक क्यों थे? दो कारण दीजिए।
उत्तर : (i) यूरोपीय शैली उनकी श्रेष्ठता, अधिकार और सत्ता का प्रतीक होगी।
(ii) यूरोपीय ढंग की दिखने वाली इमारतों से औपनिवेशिक स्वामियों और भारतीय प्रजा के बीच फर्क और फासला साफ दिखाई देगा।

प्रश्न 34. नव-गॉथिक शैली तथा इंडो-सारासेनिक शैलियों में औपनिवेशिक काल में बने दो-दो भवनों के नाम बताओ।
उत्तर : नव-गॉथिक शैली : सचिवालय, बंबई विश्वविद्यालय,उच्च न्यायालय।
इंडो-सारासेनिक शैली : गेटवे ऑफ इंडिया, ताजमहल होटल।

You cannot copy content of this page
Scroll to Top

Live Quiz : बंधुत्व जाति और वर्ग | 04:00 pm