Class 12 Political Science भाग-2 Chapter 8 क्षेत्रीय आकांक्षाएँ-याद रखने योग्य बातें

याद रखने योग्य बातें

1.1980 के दशक में स्वायत्तता की माँग : देश के अनेक भागों स्वायत्तता (अधिक शक्तियाँ, अधिकारों के साथ आंतरिक राज्य या शासन) की माँग के पक्ष में कुछ आंदोलन चलाए गए, यहाँ तक कि हथियार भी उठाए गए।
2.भारत सरकार का क्षेत्रीय आकांक्षाओं के प्रति नजरिया ( दृष्टिकोण) : विभिन्न क्षेत्रों और भाषायी समूहों को अपनी संस्कृति बनाए रखने का पूर्ण अधिकार भारत सरकार देगी ।
3.स्वतंत्रता उपरांत तनाव के दायरे : 1. विभाजन एवं विस्थापन, 2 देसी रियासतों का विलय, 3. राज्यों का पुनर्गठन, 4. जम्मू-कश्मीर का मसला, 5. हिंदी को राजभाषा बनाने के विरुद्ध विरोध आंदोलन, 6. नागालैंड, पंजाब, असम और मिजोरम में नई चुनौतियाँ।
4. जम्मू-कश्मीर में तीन राजनीतिक एवं सामाजिक क्षेत्र: 1. जम्मू, 2. कश्मीर, 3. लद्दाख
5.जम्मू-कश्मीर राज्य में बाहरी और आंतरिक विवाद : 1. बाहरी कारण है पाकिस्तान का कश्मीर के प्रति रवैया या उसका कश्मीर पर दावा तथा 2. आंतरिक कारण अधिक स्वायत्तता या पूर्ण स्वतंत्रता की माँग।
6. 1987 के जम्मू-कश्मीर विधान सभा के चुनाव परिणामों का एक दुष्परिणाम : नेशनल कांफ्रेंस एवं कांग्रेस गठबंधन की विजय को जनता ने चुनावों की धाँधली एवं जनता की पसंद के अनुसार परिणामों वाला नहीं समझा। राज्य में विद्रोही तेवर तीव्र होते चले गए।
7.1987 तक राज्य पर निंदनीय दुष्प्रभाव : 1989 तक जम्मू-कश्मीर राज्य उग्रवादी आंदोलनकारी गिरफ्त में आ चुका था। 1990 से 1996 तक उग्र हिंसा के दुष्परिणाम लोगों को भुगतने पड़े।
8. 1996 के चुनाव परिणाम : विधानसभा में नेशनल कांफ्रेंस विजयी तथा नए मुख्यमंत्री फारुख अब्दुल्ला की क्षेत्रीय स्वायत्तता की माँगा।
9.2002 में जम्मू-कश्मीर-चुनाव निष्पक्ष ढंग से : पीपुल्स डेमोक्रेटिक अलायंस (पी.डी.पी.) और कांग्रेस गठबंधन की सरकार सत्ता में आई किंतु बाद में इनका गठबंधन टूट गया।
10. अकाली दल का गठन : 1920 के दशक में।
11.भाषायी आधार पर पंजाब का पुनर्गठन तथा तीन राज्य : 1966- 1. पंजाब, 2. हरियाणा तथा 3. हिमाचल प्रदेश।
12. अकालियों द्वारा पंजाब में स्वायत्तता की माँग : 1970 के दशक में।
13.आनंदपुर साहिब प्रस्ताव ( क्षेत्रीय स्वायत्तता की माँग) पारित हुआ था : 1973 में।
14.इंदिरा सरकार का अमृतसर ( स्वर्ण मंदिर) में ऑपरेशन ब्लूस्टार (या सैन्य कार्रवाई) : जून, 1984 ।
15. प्रधानमंत्री इंदिरा गाँधी की अंगरक्षकों द्वारा हत्या : 31 अक्टूबर, 1984।
16. 1997 के पंजाब विधान सभा के चुनाव का राजनीतिक परिणाम : अकाली दल-भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) गठबंधन की सरकार।
17.2002 के विधानसभा (पंजाब) चुनाव के परिणाम : कांग्रेस की सरकार।
18.2007 के विधान सभा (पंजाब) के चुनाव परिणाम : अकाली दल-भाजपा के गठबंधन की सरकार।
19. र्वोत्तर में क्षेत्रीय आकांक्षाओं का उभार : 1980 के दशक में।
20.सात बहनें : पूर्वोत्तर क्षेत्र के सात राज्य।
21.पूर्वोत्तर क्षेत्र में देश की कुल जनसंख्या का प्रतिशत : 4 (चार)।
22. नागालैंड राज्य बना : 1960 में।
23.मेघालय, मणिपुर और त्रिपुरा राज्य बने : 1972 में।
24. अरुणाचल और मिजोरम राज्य बने : 1986 में ।
25.पूर्वोत्तर राज्यों की राजनीति पर हावी होने वाले तीन मुद्दे : 1. स्वायत्तता की माँग, 2. अलगाव के आंदोलन तथा 3. बाहरी (देश के अन्य भागों से आकर बसने वाले लोग-विशेषकर हिन्दी भाषी) लोगों का विरोध।
26. मिजो पर्वतीय क्षेत्र अलगाववादी आंदोलन के नेता : मिजो नेशनल फ्रंट के लालडेंगा।
27.राजीव गाँधी-लालडेंगा में समझौता : इस समझौते के द्वारा 1986 में मिजोरम को पूर्ण राज्य का दर्जा प्राप्त हुआ।
28.आसू = AASU : ऑल असम स्टूडेंट्स यूनियन, 1979 में।
29. सिक्किम का भारत में विलय : अप्रैल, 19751
30.गोवा की मुक्ति : 1961 में।
31.गोवा भारत संघ का राज्य बना : 1987 में ।
32. रामास्वामी नायकर का जीवन काल : पेरियार के नाम से प्रसिद्ध 1879-1973।
33.द्रविड़ आंदोलन का नारा : उत्तर हर दिन बढ़ता जाए, दक्षिण दिन-दिन घटता जाए।
34.शेख अब्दुल्ला का जीवन काल : 1903 से 1982।

You cannot copy content of this page
Scroll to Top