Prove how tea cultivation satisfies the characteristics of plantation farming. || प्रमाणित कीजिए कि किस प्रकार से चाय की खेती करना रोपण कृषि की चारित्रिक विशेषताओं को पूरा करती है।

Q.प्रमाणित कीजिए कि किस प्रकार से चाय की खेती करना रोपण कृषि की चारित्रिक विशेषताओं को पूरा करती है।


उत्तर:


(i) चाय एक गर्म तथा आर्द्र जलवायु का पौधा है।
(ii) इसके लिए 200 से 30° सेल्सियस तापमान की आवश्यकता होती है।
(iii) चाय एक श्रम प्रधान फसल है।
(iv) इसके लिए 300 सेमी. से अधिक वर्षा की आवश्यकता होती है।
(v) यह असम, पश्चिम बंगाल, तमिलनाडु आदि राज्यों में उत्पन्न होती है।
(vi) चाय के लिए अच्छे जल निकास वाली मिट्टी अच्छी मानी जाती है। इस मिट्टी में ह्यूमस तथा जैविक तत्त्व भी होना चाहिए।  


[post_ads]


Q. Prove how tea cultivation satisfies the characteristics of plantation farming.

Answer: 


(i) Tea is a hot and humid climate.
(ii) It requires a temperature of 200 to 30 ° C.
(iii) Tea is a labor intensive crop.
(iv) 300 cm for this. Requires more rainfall than.
(v) It originates in the states of Assam, West Bengal, Tamil Nadu etc.
(vi) Good drainage soil is considered good for tea. Humus and organic matter should also be present in this soil.

Leave a Comment

You cannot copy content of this page
Scroll to Top